सील ठेकों पर शराब बिकी तो लाइसेंस निरस्त

0
7

श्रीगंगानगर। विधानसभा चुनाव के मद्देनजर चुनाव आयोग के आदेश पर बुधवार शाम को ही जिले भर के शराब ठेकों को सील कर दिया गया है। इसके बावजूद अगर ठेकों पर शराब बिकती पाई गई, तो लाइसेंस निरस्त कर दिया जायेगा।
आबकारी निरीक्षक मांगीलाल बिश्रोई ने बताया कि तीन वाहनों में जाब्ते के साथ निकली टीम ने सभी ठेकों को सील कर दिया है। ठेकेदारों को हिदायत दी गई है कि शटर के नीचे से या फिर दीवार में सुराख करके शराब बेची गई, तो लाइसेंस निरस्त कर दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि कुछ शराब ठेकों पर कल रात को शराब बिकने की सूचना मिली थी, उन्होंने मौके पर जाकर जांच पड़ताल की, तो वहां शराब बिकती नहीं मिली। कुछ ठेकों की दीवार में सुराख मिले, तो उन्हें बंद करवा दिया गया।
श्री बिश्रोई ने बताया कि आबकारी आयुक्त प्रवीण गुप्ता के निर्देश पर कल शुक्रवार शाम 5 बजे तक शराब ठेकों पर निगरानी रखी जायेगी।
अगर कोई शराब बेचता पाया गया तो लाइसेंस निरस्त करने की कार्रवाई अमल में लाई जायेगी। उन्होंने बताया कि चुनावी संग्राम में अगर ठेकों के पास भीड़ नजर आती है और शराब बिकती है, तो विभाग को सूचना दी जा सकती है।
सील के बावजूद बिकती रही शराब
श्रीगंगानगर। आबकारी विभाग की ओर सील किए जाने के बावजूद शहर के कई शराब ठेकों पर शराब बिकने का मामला सामने आया है। शिकायत करने पर पुलिस मौके पर पहुंची और बिक्री को बंद करवा दिया।
जानकारी के अनुसार हनुमानगढ़ मार्ग पर बुधवार रात को शराब ठेके के शटर के नीचे से शराब बिकने की सूचना मिलने पर पुलिस व आबकारी विभाग की टीम मौके पर पहुंची। पुलिस के पहुंचने से पूर्व शराब की बिक्री बंद हो गई थी। गौरतलब है कि शराब ठेेके चाहे सील हो, या फिर आठ बजे के बाद दुकान बंद करने का प्रावधान हो, ठेकेदार व उसके कारिन्दें देर रात तक शटर के नीचे से और दीवार में सुराग करके शराब बेचते रहते हैं। कई शराब ठेका से शराब बाहर निकाल कर साथ या पीछे खाली नोहरे में पेटियों को रख कर शराब बेची जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here